राहुल गांधी को मिली जान से मारने की धमकी

 राहुल गांधी को मिली जान से मारने की धमकी : कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की हत्या की धमकी वाला अनाम पत्र मिलने के बाद सरकार ने विशेष सुरक्षा समूह (एसपीजी) और खुफिया ब्यूरो (आईबी) को सोमवार को आदेश दिया कि वे कांग्रेस उपाध्यक्ष की सुरक्षा को लेकर अधिकतम सावधानी बरतें।

पुडुचेरी में चुनाव सभा के दौरान कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की हत्या करने की धमकी वाला एक अनाम पत्र पार्टी के वरिष्ठ नेता वी. नारायणसामी को मिला है। राहुल मंगलवार को पुडुचेरी के करईकल में कांग्रेस-डीएमके गठबंधन की चुनावी रैली को संबोधित करने वाले हैं।

यह पत्र मिलने की जानकारी सामने आने के बाद तत्काल कदम उठाते हुए केंद्रीय गृह सचिव राजीव महर्षि ने एसपीजी और आईबी को निर्देश दिया कि इस संदर्भ में सभी जरूरी ऐहतियाती कदम उठाए जाएं।

 राहुल गांधी को मिली जान से मारने की धमकी
राहुल गांधी को मिली जान से मारने की धमकी

गृहमंत्री ने मामले को गंभीरता से लिया
आधिकारिक सूत्रों के अनुसार केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह के इस मामले को गंभीरता से लेने और राहुल गांधी की सुरक्षा सुनिश्चित करने का निर्देश देने के बाद महर्षि ने दोनों एजेंसियों को यह दिशा निर्देश दिए।

कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल ने की राजनाथ से मुलाकात
इससे पहले कांग्रेस नेताओं के एक प्रतिनिधिमंडल ने केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात की और राहुल गांधी की सुरक्षा बढ़ाने का आग्रह किया। राजनाथ सिंह ने कांग्रेस के प्रतिनिधिमंडल को भरोसा दिया कि त्वरित कार्रवाई होगी और सुरक्षा बढ़ाई जाएगी।

रैली में हमला करके उड़ाने की धमकी
अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री नारायणसामी ने बताया कि उन्हें पुडुचेरी स्थित अपने आवास पर बीते पांच मई को ‘बिना हस्ताक्षर वाला पत्र’ मिला, जिसमें उनको और राहुल गांधी को धमकी दी गई थी।

उन्होंने कहा कि तमिल में लिखे इस पत्र में कहा गया, ‘आपकी पार्टी पुडुचेरी में उद्योगों के बंद होने के लिए जिम्मेदार है। हम आप और आपके पूर्व प्रधानमंत्री के बेटे पर हमला करेंगे तथा सभा के दौरान आपको उड़ा दिया जाएगा।’

कांग्रेस नेताओं के प्रतिनिधिमंडल ने राजनाथ सिंह से मुलाकात कर राहुल को मिली धमकी के बारे में जानकारी दी। इस प्रतिनिधिमंडल में सोनिया गांधी के राजनीतिक सचिव अहमद पटेल, पार्टी के कोषाध्यक्ष मोतीलाल वोरा और राज्यसभा में कांग्रेस के उप नेता आनंद शर्मा शामिल थे।

एसपीजी-आईबी अलर्ट पर
गृह मंत्री के साथ करीब 20 मिनट की मुलाकात के बाद शर्मा ने संवाददाताओं से कहा, ‘गृहमंत्री ने त्वरित कार्रवाई और सुरक्षा बढ़ाने का भरोसा दिलाया है। उन्होंने यह भी भरोसा दिया है कि केंद्र और राज्य की एजेंसियां तथा एसपीजी को इस धमकी के बारे में अलर्ट कर दिया जाएगा।’

प्रधानमंत्री, पूर्व प्रधानमंत्रियों तथा उनके निकटतम परिजन को एसपीजी की सुरक्षा मिलती है। ऐसे में सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका को एसपीजी सुरक्षा मिली हुई है।

राजीव गांधी की भी एक चुनावी रैली में हत्या की गई थी
राहुल के पिता और पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की 21 मई, 1991 को चेन्नई के निकट श्रीपेरम्बदूर में आत्मघाती बम हमले में हत्या कर दी गई थी। राजीव गांधी वहां लोकसभा चुनाव के तहत एक रैली को संबोधित करने पहुंचे थे।

 राहुल गांधी को मिली जान से मारने की धमकी


इन ← → पर क्लिक करें

loading...
loading...
शेयर करें