भागवत कथा में पहुंचे मुस्लिम, आरती कर लिया गो-सेवा का संकल्प

भागवत कथा में पहुंचे मुस्लिम, आरती कर लिया गो-सेवा का संकल्प

गुना। मध्यप्रदेश के गुना जिले के कुछ मुसलमानों में एकता की अनूठी मिसाल पेश की है। जिले का बरसत गांव आज नशे का गढ़ बन चुका है तो वहीं दूसरी और बरसत गांव में इन दिनों श्री मद्भागवत ज्ञान गंगा की अमृत वर्षा हो रही है।

बरसत के कुछ मुस्लिम भाईयों ने एकता और सद्भाव की अनूठी मिसाल पेश करते भागवत कथा की पूजा अर्चना की। इतना ही नहीं उन्होंने व्यास पीठ पर विराजे कथा व्यास पंडित चम्पालाल जी  का सम्मान कर श्रीमद्वभागवत की पूजा-अर्चना की। भागवत कथा के लिए प्रसाद की व्यवस्था भी मुस्लिम भाईयों द्वारा की गई। कथा के दौरान वाचक ने बताया की ‘ना हिंदू बुरा है ना मुसलमान बुरा है बुरा है काम जिसका वो इंसान बुरा है’।

katha

गो-सेवा और नशा मुक्ति का लिया संकल्प..
कथा सुनने के बाद उन्होंने गो-सेवा करने और नशा मुक्ति का भी संकल्प लिया। इस गांव में करीब डेढ़ दर्जन मुस्लिम परिवार रहते हैं। हाफिज मुंशी खां, सदर शकील अहमद, हाजी गुलाम रसूल खां, साहब आजाद खां, रज्जाक खां, मुनव्वर खां, अनवर और इकबाल राजू उपस्थित रहे।

भागवत कथा सुनने पहुंचे हाफिज मुंशी खां, ने बताया कि को वह अपने घर पर बैठे थे। तभी लाउड स्पीकर से उन्होंने कथा में चल रहे भगवत पुराण के महत्व के प्रसंग सहित अन्य प्रसंग सुने। इससे सुनकर अच्छी बातों सहित उसमें अच्छा संदेश मिला। [सभार : ईनाडु इंडिया ]

इन ← → पर क्लिक करें

loading...
loading...
शेयर करें