ग्रामीण क्षेत्रों में सुविधाएं और सेवाएं शहरों के समान होनी चाहिए : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

ग्रामीण क्षेत्रों में सुविधाएं और सेवाएं शहरों के समान होनी चाहिए : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

जमशेदपुर: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रविवार को  राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस के अवसर पर जमशेदपुर से देशभर की सभी पंचायतों को संबोधित करते हुए कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में सुविधाएं और सेवाएं शहरों के समान होनी चाहिए।  इस अवसर को ग्रामोदय से भारत उदय अभियान की परिणिति के रूप में भी चिन्हित किया जाता है जो 14 अप्रैल को महू में बाबा साहेब अंबेडकर की 125वीं जयंती से प्रारंभ हुआ था।

0.26921100_1461584344_pm-modi-at-concluding-session-of-gram-uday-se-bharat-uday-programme-7

प्रधानमंत्री ने पंचायत प्रतिनिधियों से अपने कार्यकाल को ग्रामों में परिवर्तनकारी बदलाव लाने के उद्देश्‍य से लोगों की सेवा की दिशा में उपयोग करने का आह्वान किया। विशेष रूप में, उन्होंने कहा कि महिला सदस्य शौचालयों के निर्माण जैसे क्षेत्रों में नेतृत्व की भूमिका निभा सकती हैं।

उन्होंने पंचायतों से बच्‍चों की शिक्षा के प्रति खास ध्‍यान केन्‍द्रित करने की अपील की और कहा कि बच्‍चों के विद्यालय न जाने के संदर्भ में पंचायत के सदस्‍यों को चिंता होनी चाहिए। प्रधानमंत्री ने पंचायतों को बजट से परे सोचने के लिए प्रोत्साहित करते हुए जनसुविधा पर ध्यान केन्द्रित करने को कहा।

कार्यक्रम के बाद, प्रधानमंत्री ने मंच से नीचे आकर जमशेदपुर में देशभर से आए कुछ पंचायत प्रतिनिधियों से मुलाकात भी की। उन्होंने 2013 की अपनी जनसभा के दौरान पटना में हुए बम विस्‍फोटों के पीड़ितों में से एक की पत्‍नी और पुत्री से भी भेंट की।

 देखे वीडियो ..


इन ← → पर क्लिक करें

loading...
loading...
शेयर करें