बांग्लादेश में कुछ ऐसा नज़ारा देखने को मिला जब बारिश के पानी में घुल गया खून

बकरीद का दिन, शहर, गांव, गलियां, कुर्बानी के लाल खून से सन जाती हैं. ऐसे में अगर ये रंग बारिश में घुल जाएं, तो नज़ारा कई लोगों के लिए रौंगटे खड़े करने वाला हो जाता है. ऐसा ही नज़ारा देखा गया बांग्लादेश की राजधानी ढाका में. इस खून की नदी ने ढाका नगर निगम को आलोचनाओं को शिकार बना दिया है.

ढाका नगर निगम ने कुबार्नी के लिए शहर में 1000 स्थान निर्धारित किए थे. उत्तर में 496 और दक्षिण में 504 स्थान, पर लोगों ने अपनी सहूलियत के हिसाब से ही जानवरों की कुर्बानी दे दी. किसी ने घर के आगे तो किसी ने गली के किनारे. ऐसे में खून गलियों में फैल गया और बारिश के साथ पूरे शहर में.

 नागरिक तारिक अहमद ने बताया कि-

 पिछले साल एक बड़े अभियान के ज़रिए लोगों को कुबार्नी के लिए निर्धारित स्थान इस्तेमाल करने के लिए प्रेरित किया गया था. पिछले साल मैं मोहम्मदपुर गया था पर इस साल मुझे पता ही नहीं थी कि ये स्थान कहां है.

दक्षिण ढाका नगर निगम के उप प्रमुख Khandker Millatul Islam ने बताया कि-

 शहर में जलभराव की पुरानी समस्या है. हम इस समस्या के समाधान के लिए काम कर रहे हैं, जल्द ही ये हल हो जाएगी.

 

Article Source- Scroll

इन ← → पर क्लिक करें

loading...
loading...
शेयर करें